UP: बहन के प्रेम प्रसंग से नाराज था भाई, प्रेमी की बहन से लिया बदला

यूपी के देवरिया में एक महीने पहले हुई लड़की की हत्या का जब राज खुला तो पुलिस भी हैरान रह गई. गांव के एक युवक से बहन के प्रेम प्रंसग होने पर आरोपी ने बदला लेने के लिए युवक की बहन का कत्ल कर दिया. इसके लिए आरोपी ने अपने दोस्त की मदद लेकर इस हत्याकंड को अंजाम दिया. 

दरअसल, विशाल चौहान नाम के युवक के सुनील चौहान की बहन से प्रेम प्रंसग थे. इस प्रेम-प्रसंग की चर्चा गांव में जोरों पर थी. इस बात से नाराज होकर सुनील चौहान ने बहन के प्रेमी विशाल चौहान से बदला लेने का प्लान बनाया. इसके लिए आरोपी ने अपने दोस्त की मदद से प्रेमी विशाल चौहान की बहन खुशी की गला रेतकर हत्या कर दी. इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने घटना में इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद कर लिया गया है. 

गौरतलब है कि थाना मदनपुर के भिटहा गांव की रहने वाली 17 साल की खुशी की डेड बॉडी 23 फरवरी को गांव के बाहर गेहूं के खेत में मिली थी. लड़की की गला रेतकर हत्या की गई थी. इसमें मदनपुर पुलिस स्टेशन की पुलिस 302 के तहत अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच कर रही थी. इस हत्या के खुलासे में हो रही देरी के चलते आईजी जोन गोरखपुर राजेश मोदक भी घटनास्थल पहुंचकर परिजनों से मिले थे.

साथ ही मामले के खुलासे की देरी के चलते आई जी ने जांच कर रही पुलिस टीम को फटकार भी लगाई थी. लगातार जांच के बाद पुलिस गांव के ही सुनील चौहान और परमहंस चौहान को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी. पूछताछ में जो खुलासा हुआ उससे पुलिस भी हैरान रह गई. सुनील चौहान ने बताया कि दो साल से उसकी बहन से मृतका खुशी के भाई का प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसे लेकर विवाद भी हुआ था. 

आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन बाद खुशी का भाई विशाल चौहान गुजरात नौकरी करने चला गया था लेकिन दो महीने पहले जब वह घर लौटा उसे लेकर गांव के लोग छीटाकशी करने लगे. इसके बाद उसके मन में बदला लेने की प्रवृति जाग गई. 17 फरवरी को खुशी खेत की तरफ चारा लेने जा रही थी. उस दौरान सुनील ने अपने साथी परमहंस के साथ मिलकर खुशी की गला रेतकर हत्या कर दी. इसके बाद खुशी का शव 23 फरवरी को गांव की एक महिला ने गेंहू के खेत में पड़ा देखा. तब जाकर पुलिस की कार्रवाई शुरू हुई.

आरोपी ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन बाद खुशी का भाई विशाल चौहान गुजरात नौकरी करने चला गया था लेकिन दो महीने पहले जब वह घर लौटा उसे लेकर गांव के लोग छीटाकशी करने लगे. इसके बाद उसके मन में बदला लेने की प्रवृति जाग गई. 17 फरवरी को खुशी खेत की तरफ चारा लेने जा रही थी. उस दौरान सुनील ने अपने साथी परमहंस के साथ मिलकर खुशी की गला रेतकर हत्या कर दी. इसके बाद खुशी का शव 23 फरवरी को गांव की एक महिला ने गेंहू के खेत में पड़ा देखा. तब जाकर पुलिस की कार्रवाई शुरू हुई.

एडिशनल एसपी राजेश सोनकर ने बताया कि 23 फरवरी 2021 को भिटहा गांव के बाहर एक युवती का शव मिला था जिसकी शिनाख्त के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज करते हुए पुलिस टीमों का गठन किया गया. मुखबिर की सूचना पर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के बाद जब इनसे कड़ाई से पूछताछ की गई तो इन्होंने पूरा सच उगल दिया. इसके दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है साथ ही आगे की कार्रवाई की जा रही है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: